Home ब्रेकिंग न्यूज़ प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय महम में बताया गया शिव रात्रि का आध्यात्मिक...

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय महम में बताया गया शिव रात्रि का आध्यात्मिक रहस्य, हुआ शानदार आयोजन

उच्च आध्यात्मिक विचारों के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झांकियों ने भी मोह लिया मन

महम
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के महम केंद्र पर रविवार को शिव रात्रि के उपलक्ष्य पर 86वें शिव जयंती समारोह का आयोजन किया गया। इस धार्मिक तथा आध्यात्मिक कार्यक्रम में रोहतक केंद्र की संचालिका रक्षा बहन जी कार्यक्रम में मुख्यावक्ता के रूप उपस्थित रही। महम केंद्र की संचालिका चेतना बहन व सुमन बहन ने कार्यक्रम का संचालन किया।
भाजपा नेता शमसेर खरकड़ा के पुत्र तकदीर खरकड़ा, फाऊंडेशन स्कूल रोहतक के निदेशक श्रीमान व श्रीमती खुराना, गुरु जंभेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी, हिसार के उपनिदेशक (जनसंपर्क) डॉ. बिजेंद्र विजय दहिया व आईसीआईसी बैंके के प्रबंधक सुमित कुमार विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय महम में मनाई गई 86वीं शिव जयंती

रक्षा बहन ने अपने संबोधन में कहा कि जब धरा पर अहंकार बढ़ जाता है तब परमात्मा स्वयं जन्म लेते हैं। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारीज के माध्यम् से परमात्मा स्वयं सत्य का संदेश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिव आदि है, अनंत हैं, समूचे विश्व में शिव को स्वीकारा जाता है। उन्होंने कहा कि मानव को अपनी वृतियों को बदलना होगा। उन्होंने शिवरात्रि के आध्यात्मिक रहस्य को भी समझाया।
तकदीर खरकड़ा ने अपने संबोधन में कहा कि शिव ऊर्जा के स्त्रोत हैं। शिव हमारी आध्यात्मिक चेतना हैं। उन्होंने कहा कि आध्यात्म की ओर कम से कम एक कदम प्रतिदिन अवश्य बढ़ाएं। शिव को सदा याद करें। तकदीर खरकड़ा ने कहा कि हमेशा सकारात्मक सोचें। सकारात्मक सोच जीवन में गहरे बदलाव लाती है।

कार्यक्रम में भावविभोर हुए श्रद्धालु

डॉ. बिजेंद्र विजय दहिया ने कहा कि मानव का परमलक्ष्य शांति है और यह कतई जरुरी नहीं कि शांति को आराम और सुख के साधनों के माध्यम् से प्राप्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय शांति स्थापना में अह्म योगदान दे रहा है। उन्होंने कहा कि यहां सुने गए संदेशों को अपने जीवन में धारण अवश्य करें।
चेतना बहन व सुमन बहन ने इस अवसर पर कहा कि वर्तमान विश्व को शांति की जरुरत है। प्रतिदिन कुछ देर सुबह शाम विश्व शांति के प्रार्थना अवश्य करें। उन्होंने कहा कि हर समय दूसरों को दुआएं दें। जीवन में सकारात्मक परिणाम अवश्य आएंगे।
कार्यक्रम में भाई बालकिशन के अतिरिक्त रोहतक से आई सुदेश बहन व मोनिका बहन ने भी अपने संबोधन दिए। कार्यक्रम में एकल नृत्य, नाटिका तथा भोले की बारात सहित कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। (विज्ञप्ति)

आज की खबरें आज ही पढ़े
साथ ही जानें प्रतिदिन सामान्य ज्ञान के पांच नए प्रश्न
डाउनलोड करें, 24c न्यूज ऐप, नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पत्नी ने पति पर लगाए गंभीर आरोप। घर से बरामद करवाई अवैध पिस्तौल

कहा घर आते ही करता था मारपीट महममहम चौबीसी के गांव मोखरा एक महिला ने अपने पति पर गंभीर...

महम के क्रांति चौक से बाइक चोरी

महम थाने में करवाया गया मामला दर्ज महममहम के क्रांति चौक पर स्थित सिवाच फोटो स्टेट के सामने से...

महाराजा अग्रसेन स्कूल महम में अग्रसेन जयंती पर हुआ समारोह

प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए महममहम के महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में अग्रकुल के...

राजा दशरथ को श्रवण के माता-पिता से मिला पुत्र वियोग में मरने का श्राप, ऐतिहासिक पंचायती रामलीला का मंचन शुरु

आदर्श रामलीला भी सोमवार की रात्रि से हो रही है आरंभ महममहम में रामलीलाओं का मंचन आरंभ हो गया...

Recent Comments

error: Content is protected !!