Home जीवनमंत्र नहीं छूटा था अशर्फियों का मोह- आज का जीवनमंत्र 24c

नहीं छूटा था अशर्फियों का मोह- आज का जीवनमंत्र 24c

हसन ने राबिया से कहा, आपने मेरी आँखें खोल दी

सूफी संत राबिया के पास एक दूसरे सूफी संत हसन बैठे हुए थे। उनके के पास एक व्यक्ति आया उसके पास कुछ सोने की अशर्फियां थी। उस व्यक्ति ने ये अशर्फियां हसन के पैरों में रखी और कहा कि ये भेंट स्वीकार करें।  हसन आग बबूला हो गए। उन्होंने कहा की के यह सब मेरे पास क्यों लाए हो?  मुझे सोने की अशर्फियों का लोभ नहीं है। मेरे लिए ये अशर्फियां केवल रेत मिट्टी हैं।

हसन उस व्यक्ति पर क्रोधित हुए और कहा कि इन अशर्फियां को तुरंत यहां से ले जाओ।पास बैठी राबिया जोर से हंसी, उसने कहा कि आपका अशर्फियों के प्रति मोह अभी खत्म नहीं हुआ है।  अगर यह खत्म हो गया होता आप इन अशर्फियों को देखकर क्रोधित नहीं होते। अगर आपके लिए ये अशर्फियां रेत और मिट्टी होती तो आप इनसे भयभीत क्यों हो। पड़ी रहती कहीं भी जैसे रेत और मिट्टी पड़ी रहती है।

हसन ने राबिया से कहा, आपने मेरी आँखें खोल दी।

आपका दिन शुभ हो!!!!!

ऐसे हर सुबह एक जीवनमंत्र पढने के लिए Download 24C News app:  https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बेहोश कर बाल बच्चेदार के साथ किया कुकर्म

पीडि़त पीजीआई रोहतक में दाखिल महम, 31 जनवरी लाखनमाजरा थाना क्षेत्र के गांव चिड़ी में एक बाल बच्चेदार व्यक्ति...

इंटर स्कूल चित्रकला प्रतियोगिता आरकेपी स्कूल की छात्रा प्रथम

बीपीएस जैन डेवलपमैंट सेंटर रोहतक में हुई प्रतियोगिता महमबीपीएस जैन डेवलपमैंट सेंटर रोहतक में हुई इंटर स्कूल चित्रकला प्रतियोगिता...

सरेआम लहराई पिस्तौल, चलाई गोली! नौ के खिलाफ मामला दर्ज

गांव किशनगढ का मामला महम, 27 जनवरी शहर से सटे गांव किशनगढ़ में कुछ युवकों द्वारा सरेआम लड़ाई झगड़ा...

मायके में आई विवाहिता घर से हुई गायब

पिता ने महम थाने में दी शिकायत महम, 27 जनवरी महम के वार्ड तीन मायके में आई एक विवाहिता...

Recent Comments

error: Content is protected !!