Home जीवनमंत्र नहीं छूटा था अशर्फियों का मोह- आज का जीवनमंत्र 24c

नहीं छूटा था अशर्फियों का मोह- आज का जीवनमंत्र 24c

हसन ने राबिया से कहा, आपने मेरी आँखें खोल दी

सूफी संत राबिया के पास एक दूसरे सूफी संत हसन बैठे हुए थे। उनके के पास एक व्यक्ति आया उसके पास कुछ सोने की अशर्फियां थी। उस व्यक्ति ने ये अशर्फियां हसन के पैरों में रखी और कहा कि ये भेंट स्वीकार करें।  हसन आग बबूला हो गए। उन्होंने कहा की के यह सब मेरे पास क्यों लाए हो?  मुझे सोने की अशर्फियों का लोभ नहीं है। मेरे लिए ये अशर्फियां केवल रेत मिट्टी हैं।

हसन उस व्यक्ति पर क्रोधित हुए और कहा कि इन अशर्फियां को तुरंत यहां से ले जाओ।पास बैठी राबिया जोर से हंसी, उसने कहा कि आपका अशर्फियों के प्रति मोह अभी खत्म नहीं हुआ है।  अगर यह खत्म हो गया होता आप इन अशर्फियों को देखकर क्रोधित नहीं होते। अगर आपके लिए ये अशर्फियां रेत और मिट्टी होती तो आप इनसे भयभीत क्यों हो। पड़ी रहती कहीं भी जैसे रेत और मिट्टी पड़ी रहती है।

हसन ने राबिया से कहा, आपने मेरी आँखें खोल दी।

आपका दिन शुभ हो!!!!!

ऐसे हर सुबह एक जीवनमंत्र पढने के लिए Download 24C News app:  https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पत्नी ने पति पर लगाए गंभीर आरोप। घर से बरामद करवाई अवैध पिस्तौल

कहा घर आते ही करता था मारपीट महममहम चौबीसी के गांव मोखरा एक महिला ने अपने पति पर गंभीर...

महम के क्रांति चौक से बाइक चोरी

महम थाने में करवाया गया मामला दर्ज महममहम के क्रांति चौक पर स्थित सिवाच फोटो स्टेट के सामने से...

महाराजा अग्रसेन स्कूल महम में अग्रसेन जयंती पर हुआ समारोह

प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए महममहम के महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में अग्रकुल के...

राजा दशरथ को श्रवण के माता-पिता से मिला पुत्र वियोग में मरने का श्राप, ऐतिहासिक पंचायती रामलीला का मंचन शुरु

आदर्श रामलीला भी सोमवार की रात्रि से हो रही है आरंभ महममहम में रामलीलाओं का मंचन आरंभ हो गया...

Recent Comments

error: Content is protected !!