Home ब्रेकिंग न्यूज़ सच्चे अर्थों में राष्ट्रवादी नेता थे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी। शमशेर सिंह...

सच्चे अर्थों में राष्ट्रवादी नेता थे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी। शमशेर सिंह खरक ने दी डॉ. मुखर्जी के बारे विस्तार से जानकारी

भारतीय जन संघ की संस्थापना की थी डॉ. मुखर्जी ने

भारतीय राजनीति में डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने के खिलाफ आवाज बुलंद की, वो देश के सच्चे अर्थों में राष्ट्रवादी दिग्गज नेता हुए हैं। जिन्होंने जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में बनी राष्ट्रीय सरकार से इस्तीफा दे कर भारतीय जन संघ की संस्थापना की। ये बात भाजपा के प्रदेश मीडिया सह प्रमुख शमशेर सिंह खरक ने उनकी जन्म जयन्ती के अवसर पर प्रेस के नाम विज्ञप्ति जारी करते हुए कही ।

खरक ने कहा कि मां भारती के सच्चे सपूत डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म 6 जुलाई 1901 में कोलकाता में हुआ था। मैं डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी जन्म जयंती पर नमन करता हूं। वो एक देशभक्त, जिन्होंने भारत के विकास के लिए अनुकरणीय योगदान दिया। उन्होंने भारत की एकता के लिए साहसपूर्ण प्रयास किए । उनके विचार और आदर्श आज भी देश भर में करोड़ों लोगों को माँ भारती की सेवा करने की प्रेरणा रूपी ताकत देते हैं।

शमशेर खरक ने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जवाहरलाल नेहरू की सरकार से अलग होकर 1951 में भारतीय जन संघ की नींव रखी थी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने के खिलाफ थे। उनका कहना था कि एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान, नहीं चलेंगे।

खरक ने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने साल 1953 में बिना परमिट के कश्मीर का दौरा किया,जहां उन्हें जम्मू-कश्मीर की तत्कालीन शेख अब्दुल्ला सरकार ने गिरफ्तार कर लिया था। इसी दौरान रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मौत हो गई। भाजपा डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को अपना आदर्श मानती है। विचारों को आगे बढ़ते हुए यह नारा था ‘जहां हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है, जो कश्मीर हमारा है,वह सारा का सारा है।

प्रदेश मीडिया सह प्रमुख ने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान के कुछ समय बाद ही मजबूरन उस समय के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने जम्मू-कश्मीर में परमिट सिस्टम को खत्म करने के लिए विवश होना पड़ा। डॉ मुखर्जी के पद चिह्नों पर चलते हुए अब बीजेपी की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के अनुच्छेद 370 को संसद में संशोधन करके निष्प्रभावी बना दिया है। अब जम्मू कश्मीर का भारत में पूर्ण रूप से विलय हो गया है। अब जम्मू कश्मीर में भारतीय संविधान के अनुसार कार्य होता है। खरक ने कहा कि धारा 370 को निष्प्रभावी करना डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भारत की अखंडता का जो सपना देखा था वो पूरा हुआ इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उनकी सरकार का आभार प्रकट किया।(विज्ञप्ति) इंदु दहिया/ 8053257789

24c न्यूज की खबरें ऐप पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें 24c न्यूज ऐप नीचे दिए लिंक से
Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कृष्णा बसों को लेकर निदेशक राज्य परिवहन ने परिवहन आयुक्त को लिखा पत्र

हिसार से दिल्ली रूट पर चलती हैं 16 कृष्णा बसें महम, 7 फरवरी हिसार से दिल्ली रूट पर चलने...

स्कार्पियों ने स्कूटी को मारी टक्कर, महिला घायल

महम थाने में मामला दर्ज महम, 7 फरवरी महम के पास एक महिला की इलैक्ट्रिक स्कूटी को एक स्कार्पियो...

गांव सीसर खास से युवक लापता, पिता ने कराया मामला दर्ज

फोन भी बंद आ रहा है महम, 7 फरवरी गांव सीसर खास से तीन फरवरी दोपहर 12 बजे घर...

हाईवे ने आटो को मारी टक्कर, छह लोग घायल

बहुअकबरपुर थाना क्षेत्र का मामला महम, 7 फरवरी बहुअकबरपुर थाना क्षेत्र के गांव डोभ के पास हुए एक हादसे...

Recent Comments

error: Content is protected !!