Home खेल चौबीसी की ’रीतिका’ ने जीत लिया ’रोम’! मोखरा की बेटी कुश्ती में...

चौबीसी की ’रीतिका’ ने जीत लिया ’रोम’! मोखरा की बेटी कुश्ती में बनी विश्व चैंपीयन। गजब के संघर्ष से पहलवान बनी है रीतिका। एक तरफा रहा फाइनल मुकाबला

पिता केवल तीन एकड़ के किसान। मां गृहणि

ताऊ ले जाते हैं हर अभ्यास के लिए रोहतक
महम

पहलवानी के लिए प्रदेशभर में विशेष स्थान रखने वाले गांव मोखरा की बेटी रीतिका अंडर 17 आयु वर्ग के 43 कि.ग्रा. भारवर्ग में विश्व चैंपीयन बन गई है। इटली के रोम में हुई इस प्रतियोगिता में रीतिका ने फाइनल में एकतरफा मुकाबले में अमेरिका की पहलवान को 9-0 से हराया। खास बात यह रही कि 9-0 की बढ़त लेने के बाद अंतिम समय में रीतिका ने प्रतिद्वंदी पहलवान को चित भी कर दिया।
रीतिका गांव के ही मदर इंडिया स्कूल की 10वीं कक्षा की छात्रा है। रीतिका की इस उपलब्धि से गांव व महम चौबीसी के साथ-साथ पूरे प्रदेश व देश में खुशी का माहौल है।

रीतिका के परिवार के सदस्य

छोटी सी जोत के किसान हैं रीतिका के पिता
रीतिका के पिता मनजीत केवल तीन एकड़ कृषि भूमि पर खेती करके परिवार का गुजर बसर करते हैं। मां भी गृहणी ही है और खेती में ही हाथ बटाती है। रीतिका के एक बहन और एक भाई हैं। बहन रीतू बड़ी है जो 12वीं कक्षा की छात्रा है। जबकि भाई 8वीं कक्षा में पढ़ता है।

फाइनल में अमेरिका की पहलवान की दी पटखनी दी (सोशल मीडिया)

ताऊ ले जाता है हर रोज अभ्यास के लिए रोहतक
रीतिका का ताऊ नरेंद्र उर्फ ढीलू रीतिका को हर रोज अभ्यास के लिए रोहतक छोटूराम स्टेडियम ले जाता है। नरेंद्र ने बताया कि रीतिका पहले गांव के ही शिव शंकर अखाड़े में माड़िया पहलवान के निर्देशन में अभ्यास करती थी। बाद में सांई में उसका चयन हो गया। अब वह प्रतिदिन रोहतक जाती है।
परिवार गांव में ही रहता है। परिवार रोहतक में रहने का खर्च नहीं उठा सकता। ऐसे में रीतिका को अभ्यास के लिए सुबह शाम रोहतक लेकर जाया जाता है।
सुबह चार बजे घर से निकलते हैं
नरेंद्र ने बताया कि वे प्रतिदिन सुबह लगभग चार बजे मोखरा से रोहतक के लिए निकलते हैं। पांच रोहतक स्टेडियम पहुंचते हैं। आठ बजे वापिस मोखरा आते हैं। उसके बाद रीतिका स्कूल जाती है। शाम को तीन बजे फिर रोहतक के लिए जाते हैं और देर शाम सात-आठ बजे वापिस मोखरा आते हैं। रीतिका का पिता खेती संभालता है जबकि नरेंद्र परिवार के बच्चों की देखभाल में लगा हुआ है।
नरेंद्र का भी एक बेटा है रवि। वह 12वीं में पढ़ता है तथा पहलवानी करता है। एक बेटी शिल्पा है जो मोखरा के राजकीय महिला महाविद्यालय में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा है।
जश्न की हो रही है तैयारी
नरेंद्र ने बताया कि रीतिका के गांव मोखरा में लौटने का इंतजार किया जा रहा है। वह रविवार की देररात तक दिल्ली पहुंचेगी। उसके बाद दिल्ली ही रुकेगी, मोखरा पहुंचने का कार्यक्रम अभी तय नहीं है। इंदु दहिया/ 8053257789

24c न्यूज की खबरें ऐप पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें 24c न्यूज ऐप नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पत्नी ने पति पर लगाए गंभीर आरोप। घर से बरामद करवाई अवैध पिस्तौल

कहा घर आते ही करता था मारपीट महममहम चौबीसी के गांव मोखरा एक महिला ने अपने पति पर गंभीर...

महम के क्रांति चौक से बाइक चोरी

महम थाने में करवाया गया मामला दर्ज महममहम के क्रांति चौक पर स्थित सिवाच फोटो स्टेट के सामने से...

महाराजा अग्रसेन स्कूल महम में अग्रसेन जयंती पर हुआ समारोह

प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए महममहम के महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में अग्रकुल के...

राजा दशरथ को श्रवण के माता-पिता से मिला पुत्र वियोग में मरने का श्राप, ऐतिहासिक पंचायती रामलीला का मंचन शुरु

आदर्श रामलीला भी सोमवार की रात्रि से हो रही है आरंभ महममहम में रामलीलाओं का मंचन आरंभ हो गया...

Recent Comments

error: Content is protected !!