तीन अध्यादेशों के खिलाफ किसानों ने किया रोड जाम

0
740

महम चौबीसी के चबूतरे से 2 अक्टूबर से किसान न्याय युद्ध शुरू करेंगे बलराज कुंडू

24सी न्यूज, सुनील खान/ कपिल खरकड़ा

तीन अध्यादेशों के खिलाफ किसान सड़क पर बैठ गए। महम में खाटुश्याम मंदिर, मदीना, मोखरा, बहुअकबर पुर और भैणी महाराजपुर में किसानों ने सड़क पर जाम लगा दिया। जिससे वाहनों की लंबी लाइन लग गई। किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी। वही पुलिस प्रशासन भी जाम से निपटन के लिए मुस्तैद रहा वाहनों को जाम से निकालने के लिए वाहन चालकों को दूसरे रास्तों ने भेजना शुरू कर दिया। वहीं प्रशासन ने किसानों को सड़क जाम नहीं करने की अपील की।

महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू रोहतक की नई अनाज मंडी में चल रहे किसानों और आढ़तियों को समर्थन देने पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह किसानों और आढ़तियों के लिए काला कानून है। जिससे किसी भी सूरत में लागू नहीं होने दिया जाए। इसके बाद वे भैणी महाराजपुर पहुंचे और एक बड़े युद्ध की घोषणा करने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने एक अक्टूबर तक तीन अध्यादेश वापस नहीं लिया तो वे 2 अक्टूबर से महम चौबीसी के चबूतरे से किसान न्याय युद्ध शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि महम चौबीसी के चबूतरे से किसानों के हकों के लिए भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। उन्होंने कहा कि जो किसानों का नहीं हो सकता वही किसी का नहीं हो सकता। कुंडू ने कहा कि किसान-आढ़तियों पर हो रहे अन्याय को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

पुलिस को निर्देश तनाव की स्थिति न हो

गृह सचिव विजय वर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी जिला उपायुक्तों व पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक की। लिखित निर्देश में कहा कि अगर प्रदेश में किसानों द्वारा हाईवे जाम किए जाते हैं तो पुलिस तत्काल प्रभाव से ट्रैफिक को वैकल्पिक रास्तों से निकालने का प्रबंध करे। सभी अधिकारियों को जिला मुख्यालय न छोड़ने के निर्देश देते हुए गृहसचिव ने कहा कि किसानों के चक्का जाम के दौरान कहीं पर भी तनाव की स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए।

पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद रहीः एसएचओ जाखड़

एसएचओ नवीन जाखड़ ने बताया कि जाम शांतिपूर्वक रहा कोई अनहोनी या अप्रिय घटना न हो इसलिए पुलिस पूरी तरह मुस्तैद रही। जो वाहन चालक जाम फंसे उन्हें दूसरे रास्तों से निकाला गया। किसानों ने तीन बजे तक जाम खोल दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here