Home ब्रेकिंग न्यूज़ डिस्ट्रब्यूटरी की पार्टिशन वॉल टूटी, सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद

डिस्ट्रब्यूटरी की पार्टिशन वॉल टूटी, सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद

भिवानी डिस्ट्रब्यूटरी का पानी महम माइनर में घुसा

  • ओवरफ्लो होकर तीन स्थानों से टूटा माइनर
  • पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी ने मांगा एक लाख रुपए प्रति एकड़ का मुआवजा
  • किसानों ने कहा जल्दी निकले पानी ताकि अगली फसल की हो सके  बिजाई
  • सिंचाई विभाग की लापरवाही से टूटा माइनर, किसानों का आरोप
  • विभाग ने कहा आज ही शुरु हो जाएगी पानी की निकासी

भिवानी डिस्ट्रीब्यूटरी से महम माइनर की पार्टिशन वॉल बहने से माइनर भी तीन जगह से टूट गया। महम माइनर की सैकड़ों एकड़ भूमि में पानी भर गया। किसानों ने कहा है कि फसल पूरी तरह नष्ट हो गई है। पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी सुबह ही मौके पर पहुंचकर किसानों से मिले। घटना सोमवार की सुबह चार बजे के आसपास की है।

ऐसे बही माइनर की दीवार

महम माइनर के हैड से भिवानी डिस्ट्रीब्यूटरी लगभग 90 डिग्री के एंगल से टर्न लेती है। महम माइनर की पार्टिशन वॉल पुरानी हो चुकी थी। नहर में अचानक ज्यादा पानी आ गया। पार्टिशन वॉल टूटते ही डिस्ट्रब्यटरी का पानी महम माइनर में बहने लगा। माइनर ओवरफ्लो होकर टूटता रहा।

हैड के पास से टूट गया महम माइनर

अधिकतर इलाके में है गेहूं की फसल

इस माइनर पर देवरोड़, भैणीचंद्रपाल, बैंसी, खरक, निंदाना, गंगानगर तितरी आदि कई गांवों की भूमि पड़ती है। किसानों का कहना है कि तीन सौ से अधिक एकड़ में तो जलभराव हो चुका है। पानी अभी फैल ही रहा है।

खेतों में भर गया नहरा पानी

समय रहते विभाग ने नहीं की कार्रवाई

किसानों का आरोप है कि सिंचाई विभाग की ओर से छ:-सात घंटों की देरी से माइनर में बहते पानी को रोकने की कार्रवाई शुरु की गई। तब तक किसानों ने भी अपने स्तर पर पानी के बहाव को रोकने के प्रयास कर लिए थे। किसान नरेश, बिजेंद्र, राजेंद्र, महेंद्र, मंजीत, सुभाष, अजमेर, रणबीर, महाबीर, हरीचंद, दिलबाग, करण, भान सिंह, रामफल सिंह तथा भीरा सिंह का कहना है कि समय रहते पानी रोक दिया जाता तो इतनी अधिक फसलें बर्बाद नहीं होती।

मौके पर मौजूद किसान

एक लाख से अधिक का हुआ है नुकसान-दांगी

पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी ने कहा है कि माइनर टूटने से किसानों को एक लाख रुपए प्रति एकड़ से अधिक का नुकसान हुआ है। लगभग 50 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से जमीन ठेके पर ली जाती है। 15 हजार रुपए प्रति एकड़ से अधिक का अब तक खर्च आ चुका है। 70 हजार रुपए की गेहूं का एक किसान अनुमान लगाता है। दांगी ने आरोप लगाया कि सरकार तथा प्रशासन किसानों की प्रति असंवेदनशील है। उन्होंने कहा कि यह विभाग की लापरवाही से डिस्ट्रीब्यूटरी टूटी है। अतिरिक्त पानी नहर में आने से ऐसा हुआ है।

मौके पर पहुंचे पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी

हर संभव हो रहे हैं प्रयास-खरक

मौके पर पहुंचे शमसेर खरक ने कहा कि इस संबंध में प्रशासनिक तथा सिंचाई विभाग के अधिकारियों से बात हो चुकी है। खराब हुई फसलों की विशेष गिरदावरी करवाई जाएगी तथा पानी की निकासी की तुरंत व्यवस्था की जाएगी।

आज ही शुरु हो जाएगी पानी की निकासी-एसडीओ

सिंचाई विभाग के एसडीओ दिनेश कुमार ने कहा है कि माइनर की पार्टिशन वॉल बहने से ही माइनर ओवरफ्लो हुआ है। विभाग ने मौके पर पहुंचकर पानी के बहाव को रोक दिया है। खेतों से पानी की निकासी आज ही शुरु कर दी जाएगी। महम माइनर में पानी की आपूर्ति शुरु होने में समय लगेगा।  

आसपास की न्यूज के बारे में तुरंत जानने के लिए डाऊन लोड़ करे 24सी ऐप नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

’वाटर बम’ बन सकती है महम ड्रेन, क्षमता से तीन गुणा है ड्रेन में पानी

टूटने से बचाना है तो लिफ्ट या कंकरीट की दीवारें बनानी ही होंगी ढलान कम होने के कारण बार-बार...

100 से अधिक नागरिकों की हुई निःशुल्क हृदय जांच

रामगोपाल सामान्य एवं जनाना अस्पताल में लगाया शिविर महममहम में पंचायती रामलीला मैदान के सामने स्थित रामगोपाल सामान्य एवं...

सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने किया सैमाण व बेडवा के खेतों का दौरा

अधिकारियों को दिए खेतों से बारिश के पानी की जल्द निकासी के निर्देंश महमराज्यसभा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने सोमवार...

बसपा ने चिराग योजना के विरोध में किया प्रदर्शन

नायब तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन महममहम हलके के बसपा कार्यकर्ताओं ने सोमवार को चिराग योजना के विरोध में प्रदर्शन...

Recent Comments

error: Content is protected !!