Home जीवनमंत्र क्या निकला मंत्री के संदूक से?- एक शानदार कहानी-जीवनमंत्र 24सी

क्या निकला मंत्री के संदूक से?- एक शानदार कहानी-जीवनमंत्र 24सी

एक किसान व राजा की कहानी

एक बार लगातार सूखे के कारण एक किसान के पास खाने के पास कुछ नहीं बचा। उसकी पत्नी के कहने पर वह उस राज्य के राजा के पास सहायता मांगने चला गया। किसी समय भ्रमण पर आए राजा की किसान ने सहायता की थी और राजा ने भी किसान को मुसीबत के समय किसान को सहायता का वचन दिया था।
किसान जब राजा के पास पहुंचा तो राजा ने उसका दिल खोल कर स्वागत किया। किसान के कपड़े फटे हुए थे। जूती टूटी हुई थी।

राजा ने किसान के लिए तुरंत सुंदर पोशाक मंगवाई और उसे राज्य का वित्त मंत्री बना दिया

किसान ने अपने फटे पुराने कपड़ें तथा जूतियां एक छोटे से संदुक में रख लिए और उन्हें हमेशा अपने साथ रखता।
वित्तमंत्री बने किसान की सूझबूझ व ईमानदारी के चलते राज्य के खजाने में वृद्धि होने लगी और जनता भी खुशहाल होने लगी। राजा अपने किसान मित्र से खुश था। किसान की वितमंत्री के रूप में ख्याति बढ़ने लगी तो राजा के अन्य मंत्री व दरबारी उससे ईर्ष्या रखने लगे।


उन्होंने राजा के कान भरने शुुरु कर दिए। आखिर एक दिन दरबार मे ही आरोप लगाया दिया कि महाराज ये वित्तमंत्री हमेशा एक छोटी सी संदूक अपने साथ रखता है। इस संदूक में खजाने से धन चुरा कर ले जाता है।
अब आरोप सार्वजनिक रूप से लगा था तो राजा होने के नाते किसान से कहना पड़ा कि वो अपनी संदूक को दरबार में ही अभी खोल कर दिखाए।

किसान ने काफी मना किया, लेकिन दरबारी नहीं माने और संदूक खुलवाने पर अड़े रहे।
आखिर किसान ने संदूक खोली तो उसमे से उसकी पुरानी फटी धोती, कमीज और टूटी जूतियां निकली।
सब हैरान, राजा ने पूछा, इन्हें साथ क्यों रखते हो?
किसान ने कहा महाराज, ये मुझे मेरी वास्तविकता की याद दिलाते रहते थे ताकि मेरे अंदर अंहकार ना आए और मैं किसी का बुरा ना करु।
किसान ने उसी समय मंत्री की पोशाक को उतार कर अपने पुराने कपड़े व जूती पहन लिए और राजा से अपने गांव वापिस जाने के लिए विदा ले ली।
राजा के बहुत मना करने पर भी वह नहीं माना। उसने कहा, बारिश हो गई है महाराज, मेरे खेत मेरी बाट जोह रहे होंगे। आप अपने राज्य को संभाले।
किसान ने सीखा दिया कि इंसान को अपनी जड़ों से नहीं कटना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पत्नी ने पति पर लगाए गंभीर आरोप। घर से बरामद करवाई अवैध पिस्तौल

कहा घर आते ही करता था मारपीट महममहम चौबीसी के गांव मोखरा एक महिला ने अपने पति पर गंभीर...

महम के क्रांति चौक से बाइक चोरी

महम थाने में करवाया गया मामला दर्ज महममहम के क्रांति चौक पर स्थित सिवाच फोटो स्टेट के सामने से...

महाराजा अग्रसेन स्कूल महम में अग्रसेन जयंती पर हुआ समारोह

प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए महममहम के महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में अग्रकुल के...

राजा दशरथ को श्रवण के माता-पिता से मिला पुत्र वियोग में मरने का श्राप, ऐतिहासिक पंचायती रामलीला का मंचन शुरु

आदर्श रामलीला भी सोमवार की रात्रि से हो रही है आरंभ महममहम में रामलीलाओं का मंचन आरंभ हो गया...

Recent Comments

error: Content is protected !!