Home जीवनमंत्र लकड़हारे के भर गए भंडार-आज का जीवनमंत्र 24c 

लकड़हारे के भर गए भंडार-आज का जीवनमंत्र 24c 

गरीबों और साधुओं की सेवा निष्फल नहीं जाती

एक लकड़हारे को कठोर परिश्रम के बावजूद आधा पेट भोजन ही मिल पाता था।

एक दिन उसकी मुलाकात एक साधु से हुई। लकड़हारे ने साधु से कहा कि जब भी आपकी प्रभु से मुलाकात हो जाए, मेरी फरियाद उनके सामने रखना और मेरे कष्ट का कारण पूछना।कुछ दिनों बाद उसे वह साधु फिर मिला। 

लकड़हारे ने उसे अपनी फरियाद की याद दिलाई तो साधु ने कहा कि- “प्रभु ने बताया हैं कि लकड़हारे के भाग्य में पूरे जीवन के लिए कम आनाज है। उसे पूरे जीवन अनाज मिलता रहे और वह जीवित रह सके, इसलिए उसे कम अनाज दिया जा रहा है।”

समय बीता। साधु उस लकड़हारे को फिर मिला तो लकड़हारे ने कहा, “ऋषिवर…!! अब जब भी आपकी प्रभु से बात हो तो मेरी यह फरियाद उन तक पहुँचा देना कि वह मेरे जीवन का सारा अनाज एक साथ दे दें, ताकि कम से कम कुछ दिन तो मैं भरपेट भोजन कर सकूं।”

अगले दिन लकड़हारे के घर ढ़ेर सारा अनाज पहुँच गया।

लकड़हारे ने समझा कि प्रभु ने उसकी फरियाद कबूल कर उसे उसका सारा हिस्सा भेज दिया हैं। 

उसने बिना कल की चिंता किए, सारे अनाज का भोजन बनाकर फकीरों और भूखों को खिला दिया और खुद भी भरपेट खाया।

लेकिन अगली सुबह उठने पर उसने देखा कि उतना ही अनाज उसके घर फिर पहुंच गया हैं। उसने फिर गरीबों को खिला दिया। फिर उसका भंडार भर गया। 

यह सिलसिला रोज-रोज चल पड़ा और लकड़हारा लकड़ियां काटने की जगह गरीबों को खाना खिलाने में व्यस्त रहने लगा।

कुछ दिन बाद वह साधु फिर लकड़हारे को मिला तो लकड़हारे ने कहा—“ऋषिवर ! आप तो कहते थे कि मेरे जीवन में सिर्फ पाँच बोरी अनाज हैं, लेकिन अब तो हर दिन मेरे घर पाँच बोरी अनाज आ जाता हैं।”

साधु ने समझाया, “तुमने अपने जीवन की परवाह ना करते हुए अपने हिस्से का अनाज गरीब व भूखों को खिला दिया। 

इसीलिए प्रभु अब उन गरीबों के हिस्से का अनाज तुम्हें दे रहे हैं।”

अतः गरीबों और साधुओं की सेवा में दान करने वालों का भंडारा हमेशा भरा रहता है।

आपका दिन शुभ हो!!!!!

ऐसे हर सुबह एक जीवनमंत्र पढने के लिए Download 24C News app:  https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

निंदाना की मेधावी छात्रा ने सीएम से पुरस्कार में मांगा गांव की समस्याओं का समाधान

रोहतक में मेधावी विद्यार्थी सम्मान समारोह में सीएम को दिया मांग पत्र महममहम चौबीसी के गांव निंदाना की एक...

हथियारों की वीडियो दिखा कर दी जान से मारने की धमकी

निंदाना के युवक पर आरोप महममहम चौबीसी विधान सभा क्षेत्र के गांव लाखनमाजरा के युवक को जान से मारने...

खेत से हुई किसान की बाइक चोरी

बहुअकबरपुर थाने में हुआ मामला दर्ज महममहम चौबीसी के गांव मोखरा के एक किसान की बाइक उसके खेत से...

स्वच्छता एवं पर्यावरण जागरुकता रैली निकाली

प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने का किया आह्वान महमराजकीय माध्यमिक विद्यालयए ईमलीगढ महम के विद्यार्थियों द्वारा स्वच्छता अभियान को...

Recent Comments

error: Content is protected !!