Home खेल खरकड़ा की बेटी ने जीता राष्ट्रीय कुश्ती चैंपीयनशिप में स्वर्ण

खरकड़ा की बेटी ने जीता राष्ट्रीय कुश्ती चैंपीयनशिप में स्वर्ण

पहली बार जूनियर वर्ग में खेल रही थी रीतिका

बेल्लारी कर्नाटका में संपन्न हुई है चैंपीयनशिप
महम

महम चैबीसी के गांव खरकड़ा की बेटी रीतिका ने जूनियर महिला एवं सब जूनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपीयनशिप के जूनियर वर्ग के 72 कि.ग्रा. भारवर्ग में स्वर्ण जीता है। चैंपीयनशिप बेल्लारी कर्नाटक में संपन्न हुई है।
12वीं कक्षा की छात्रा रीतिका पांच साल से कुश्ती की ट्रेनिंग ले रही हैं। रीतिका की ट्रेनिंग के चलते ही उसके पिता जगबीर सिंह फिलहाल रोहतक में रह रहे हैं।

रीतिका को विजयी घोषित करते रैफरी


पांच साल पहले शुरु किया था अभ्यास
रीतिका ने पांच साल पहले ही कुश्ती का अभ्यास शुरु किया था। तब से अब तक उसने जिस भी प्रतियोगिता में भाग लिया स्वर्ण ही जीता है। रीतिका का कहना है कि उसका लक्ष्य ओलंपिक जीतना है। जिसे वह हर हाल में हासिल करके रहेगी। रीतिका छोटूराम स्टेडियम रोहतक में कोच मन्दीप तथा नीतू देवी के अंडर अभ्यास करती है।
शहीद की बहन है रीतिका
रीतिका खरकड़ा के शहीद जोगेंद्र की चचेरी बहन है। जोगेंद्र गत 28 जनवरी को युद्धाभ्यास के दौरान शाहदत्त को प्राप्त हो गए थे। रीतिका का बड़ा भाई भी सेना में हैं। उसके पिता भी सेना से ही सेवानिवृत हैं। माता नीलम देवी गृहणी हैं, लेकिन रीतिका की सफलता में उनका सर्वाधिक योगदान है।

माता पिता के साथ रीतिका


बैंक में क्लर्क हैं पिता
रीतिका के पिता जगबीर सिंह सेना से सेवानिवृत होकर बैंक में क्लर्क के रूप में कार्य कर रहे हैं। उनका कहना है कि रीतिका पर 30 हजार रूपए प्रतिमाह खर्च होता है। इनमें से रीतिका को दस हजार रूपए खेलो इंडिया के तहत छात्रवृति मिलती है जबकि 12 हजार रूपए प्रतिमाह एनएचपीसी से छात्रवृति मिलती हैं। शेष राशि वे अपने संसाधनों से जुटा लेते हैं, कोई समस्या नहीं है। जगबीर ंिसह भी अपनी बेटी को ओलंपिक को स्वर्ण पदक जीतते देखना चाहते हैं।

आसपास की न्यूज के बारे में तुरंत जानने के लिए डाऊन लोड़ करे 24सी ऐप नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

उजाला नगर से उठाकर महाराजा अग्रसेन स्कूल के सामने डाल दिया मृत सांड

दबाना भी उचित नहीं समझा सांड को महममहम नगरपालिका की लापरवाही दिनों-दिन लगातार सामने आ रही है। लापरवाही एक...

विधायक बलराज कुंडू ने अधिकारियों को बरसाती पानी की जल्द निकासी के निर्देश दिए

प्रभावित गांवों में किया मौका-मुआयना, बिजली मंत्री से की बात महमजन सेवक मंच संयोजक एवं निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू...

आदर्श रामलीला में हुआ श्रीराम का जन्म तो पंचायती में माता सीता भी आई

महम की रामलीलाओं में लगातार बढ़ रही है दर्शकों की संख्या महममहम की रामलीला मंचन ज्यों-ज्यों आगे बढ़ रहा...

चपड़ासी को गणित पढ़ाना पड़ता है, विज्ञान का भी अध्यापक नहीं

सीएम के पैतृक गांव निंदाना में छात्राओं ने जड़ दिया स्कूल को ताला महमहरियाणा मंे नगर निंदाना के नाम...

Recent Comments

error: Content is protected !!