Home ब्रेकिंग न्यूज़ ‍‍डीएसपी कुलदीप सहारण की याद में लगा आरओ वाटरकूलर, महाबीर फरमाना ने...

‍‍डीएसपी कुलदीप सहारण की याद में लगा आरओ वाटरकूलर, महाबीर फरमाना ने किए फल वितरित

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में लगाया वाटर कूलर

  • आर्य समाज द्वारा किया गया हवन यज्ञ
  • कन्या स्कूल फरमाणा में आर ओ वाटर कूलर किया भेंट

महम के गांव फरमाना में राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय में आर्य समाज फरमाणा के द्वारा यज्ञ किया गया। यज्ञ के उपरांत विद्यालय में कन्याओं के लिए डीएसपी कुलदीप साहरण की यादगार में उनके परिवार ने कन्याओं के लिए ठंडा व स्वच्छ पीने का पानी के लिए एक आरो व एक वाटर कूलर सप्रेम भेंट किया।

इस मौके पर समाजसेवी महावीर सहारन जी ने कन्याओं को फल वितरित किऐ।

इस अवसर पर डॉ राजेश आर्य फरमाणा, आर्य समाज के प्रधान नफे सिंह आर्य , पूर्व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी वीरेंद्र साहरण, सुनीता साहरण, स्कूल प्राचार्य नसीब सिंह ,जयपाल आर्य, शीलकराम रोहिल्ला मदीना, दलजीत सिंह, जयवीर, महासिंह सैनी ,यशवीर, जसबीर सिंह , राजवीर साहरण,सत्यवीर सिंह आदि स्कूल के सभी अध्यापक गण सभी  छात्राऐं व गांव के गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

कौन थे कुलदीप?

कुलदीप सिंह का जन्म माता श्रीमती घोघड़ी देवी व पिता श्री रणपत सिंह के घर 1 जनवरी 1944 को गांव फरमाना खास में हुआ। इनके पिता श्री रणपत सिंह एक जाने-माने आर्य समाजी थे। आर्य समाज और देशसेवा में रुचि के कारण वे फौज में भर्ती हुए, उसके बाद उन्होंने अध्यापक के तौर पर अपनी सेवाएं दी। माता श्रीमती घोघड़ी देवी गांव खांडा खेड़ी से एक शिक्षित महिला थी। माता -पिता के शिक्षा और संस्कारों के प्रभाव स्वरूप श्री कुलदीप सिंह ने बचपन से ही खेल और शिक्षा में अपना बेहतर प्रदर्शन किया।

डीएसपी कुलदीप सिंह (फ़ाइल फोटो)

कुलदीप सिंह के बड़े भाई शमशेर सिंह अध्यापक के पद से सेवानिवृत्त हुए तथा छोटे भाई वीरेंद्र सिंह जिला शिक्षा अधिकारी व बहन यशोधरा अध्यापिका के पद से सेवानिवृत्त हुई। गांव में शिक्षा के उपरांत कुलदीप सिंह अपने लंबे चौड़े कद काठी और खेल में रुचि के कारण हरियाणा पुलिस में सिपाही के तौर पर भर्ती हुए तथा 40 वर्षों की सेवा के उपरांत डीएसपी के पद से सेवानिवृत्त हुए। उनकी सादगी एवं कार्यकुशलता की विभाग आज भी प्रशंसा करता है उनकी व्यवहार कुशलता एवं मृदुभाषिता ने उनको समाज में ऊंचा मुकाम दिलाया। उन्होंने हर समय दूसरों की हर संभव सहायता की। उनकी धर्मपत्नी कमला देवी हैं।

9 सितंबर 2021 को एक पुत्री सुनीता दो पुत्र जसवीर एवं यशवीर वह भरे पूरे परिवार को छोड़कर उनका स्वर्गवास हो गया।

24c न्यूज/ दीपक दहिया 8950176700

आज की खबरें आज ही पढ़े
साथ ही जानें प्रतिदिन सामान्य ज्ञान के पांच नए प्रश्न
डाउनलोड करें, 24c न्यूज ऐप, नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

महम में नई अनाजमंडी परिसर में हुआ रावण दहन

पंजाबी रामा क्लब से निकली श्रीराम व रावण की रथयात्रा महममहम में दशहरा पर्व बड़ी धूमधाम से बनाया गया।...

बुराई को अच्छाई से ही भगाया जा सकता है-महाबीर सहारण

गांव फरमाणा में मनाया गया दशहर पर्व महममहम चौबीसी के गांव फरमाणा में ग्रामीणों तथा बच्चों ने दशहरा पर्व...

बेस्ट कैचर शीलू बल्हारा को विधायक बलराज कुन्डू ने किया सम्मानित

वर्ल्ड कबड्डी कप कनाड़ा-2022 के बैस्ट कैचर चुने गए हैं शीलू बल्हारा महममहम के विधायक बलराज कुन्डू ने कबड्डी...

महम की रामलीलाओं में श्रीराम और रावण के युद्ध की घोषणा हो गई

बाली वध व रावण-अंगद संवाद का भी हुआ मंचन महममहम की रामलीलाएं अब अपने अंतिम पड़ाव की ओर बढ़...

Recent Comments

error: Content is protected !!