Home ब्रेकिंग न्यूज़ कहां पड़ी दोहरी मार? किसको हुआ फायदा? कितनी हुई बारिश?-पढ़िए

कहां पड़ी दोहरी मार? किसको हुआ फायदा? कितनी हुई बारिश?-पढ़िए

किसानों के लिए वरदान बनी बारिश, कई के लिए बनी आफत

बारिश ने सिंचाई विभाग की परेशानी बढ़ाई
महम माइनर की फसलों में जमा है डिस्ट्रीब्यूटरी का पानी

मंगलवार की शाम पांच बजे तक 22 एमएम हुई है महम इलाके में बारिश
महम
जब भी बारिश होती है किसानों के चेहरे खिल जाते हैं, लेकिन जलभराव हो तो बारिश मुसीबत बन जाती है। महम माइनर के किसानों के साथ ऐसा ही हुआ है। जिन किसानों को माइनर टूटने के कारण नहरी पानी नहीं मिल रहा था, उनके लिए यह बारिश वरदान साबित हो रही है। दूसरी ओर जिन किसानों के खेतों में सोमवार को डिस्ट्रब्यूटरी के पानी से जलभराव हो गया था। उनके लिए बारिश आफत बनकर आई है।
इन किसानों के लिए बारिश बनी मुसीबत
सोमवार की सुबह भिवानी डिस्ट्रीब्यूटरी की पार्टिशन वॉल बहने से महम माइनर में डिस्ट्रब्यूटरी का पानी आ गया। जिससे माइनर तीन स्थानों से टूट गया। किसानों के अनुसार लगभग तीन सौ एकड़ फसलें जलमग्न हो गई। अब बारिश और हो गई। जलभराव बढ़ गया। फसल बचने की संभावना और कम हो गई।


इन किसानों को हुआ फायदा
वैसे तो इस बारिश का सभी फसलों में फायदा है। लेकिन महम माइनर टूटने से माइनर में नहरी पानी की आपूर्ति बंद हो गई थी। 42 दिन के बाद नहरी पानी आया था। गेहूं को कोर की सख्त जरुरत थी। माइनर पानी की आपूर्ति संभव नहीं थी। यहां बहुत सी फसल पानी के बिना नष्ट होने की कगार पर थी। बारिश ने इन फसलों को संजीवनी दी है।
महम माइनर पर है 18 हजार एकड़ का रकबा
सिंचाई विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गांव बैंसी के पास से निकलने वाले महम माइनर पर 18 हजार एकड़ कृषि भूमि है तथा 42 मोरियां हैं। ज्यादा गेहूं की फसल है। सरसों की फसल भी है।
22 एमएम हुई है बारिश
कृषि विभाग के एडीओ संदीप नांदल ने बताया कि मंगलवार की शाम पांच बजे तक महम इलाके में 22 एमएम बारिश हो चुकी थी। बारिश उसके बाद भी जारी है। नांदल का कहना है कि जलभराव इलाके के अतिरिक्त हर जगह इस बारिश का फायदा ही फायदा है। गेहूं के लिए तो यह फसल वरदान है।

कर दी है पानी की निकासी शुरु
सिंचाई विभाग के एसडीओ दिनेश कुमार ने बताया कि महम माइनर के खेतों से पानी की निकासी शुरु कर दी है। पंप लगा दिए गए हैं। पानी को महम ड्रेन तथा भिवानी डिस्ट्रीब्यूटरी में डाला जा रहा है। हालांकि बारिश ने परेशानी बढ़ाई है। इसके बावजूद जल्द ही पानी की निकासी हो जाएगी।


महम में कई स्थानों पर भरा पानी
बारिश के कारण महम में कई स्थानों पर पानी भर गया है। विशेषकर सैमाण चुंगी चौक पर काफी मात्रा में पानी जमा है। इसके अतिरिक्त फरमाणा चुंगी तथा कुछ अन्य स्थानों पर भी जलभराव हुआ है।

for more updates

Download 24C News app:  https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

’वाटर बम’ बन सकती है महम ड्रेन, क्षमता से तीन गुणा है ड्रेन में पानी

टूटने से बचाना है तो लिफ्ट या कंकरीट की दीवारें बनानी ही होंगी ढलान कम होने के कारण बार-बार...

100 से अधिक नागरिकों की हुई निःशुल्क हृदय जांच

रामगोपाल सामान्य एवं जनाना अस्पताल में लगाया शिविर महममहम में पंचायती रामलीला मैदान के सामने स्थित रामगोपाल सामान्य एवं...

सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने किया सैमाण व बेडवा के खेतों का दौरा

अधिकारियों को दिए खेतों से बारिश के पानी की जल्द निकासी के निर्देंश महमराज्यसभा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने सोमवार...

बसपा ने चिराग योजना के विरोध में किया प्रदर्शन

नायब तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन महममहम हलके के बसपा कार्यकर्ताओं ने सोमवार को चिराग योजना के विरोध में प्रदर्शन...

Recent Comments

error: Content is protected !!