Home ब्रेकिंग न्यूज़ महम चौबीसी के एक युवक ने पेश की शानदार मिसाल! दहेज में...

महम चौबीसी के एक युवक ने पेश की शानदार मिसाल! दहेज में आए 11 लाख रुपए व वन्यू गाड़ी को लौटाया! चौबीसी का हरियाणा में बढ़ाया मान- पढ़िए सबसे पहले 24c न्यूज पर

मोखरा के आशीष राजपूत का बुधवार को आया था टीका

18 फरवरी को होनी है सोहना के गांव घामडौज की अनुपमा सेे शादी
इंदु दहिया

एक तरफ जहां पढ़े लिखे युवाओं द्वारा शादी के लिए दहेज मांगने की खबरें आए दिन आ रही हैं। शादियां टूट रहीं हैं, मंडप सजकर भी शादियां होने से रह जाती हैं। शादी के दौरान अंतिम समय में भी टूट जाते हैं रिश्ते। पिछले दिनों क्रेटा मांगने वाला मामला तो खूब वायरल हुआ था। ऐसे बिगड़ते माहौल में महम चौबीसी के गांव मोखरा के एक युवक ने नई मिसाल पेश की है। मोखरा के आशीष राजपूत ने ना केवल उसके टीके में आई वन्यू गाड़ी को ससम्मान वापिस लौटा दिया। बल्कि वधु पक्ष की ओर से दिए जाने वाले 11 लाख रुपए भी वापिस कर दिए। आशीष की शादी जिला गुरुग्राम की सोहना तहसील के घामडौज गांव की अनुपमा पुत्री उज्जैन सिंह के साथ हो रही है।

अपने परिवार के साथ आशीष

जो कहा वो किया
रिश्ते की बातचीत के शुरुआती दिनों में ही आशीष व उसके परिवार ने दहेज लेने से इंकार कर दिया था। बातचीत के दौरान भी लगातार दहेज के लिए इंकार करते रहे थे। इसके बावजूद वधू पक्ष के लोग टीके के समय वन्यू गाड़ी तथा 11 लाख रुपए लेकर आ गए। आशीष ने 24c न्यूज से बातचीत में कहा कि उन्होंने गाड़ी व पैसे ससम्मान वापिस लौटा दिए। उसने कहा कि उनका परिवार वैसा ही करेगा जैसा उन्होंने पहले कहा था। आशीष का कहना है कि उसका धन केवल वो है जो वो कमाएगा। यहीं संस्कार उसे उसके परिवार से मिले हैं। वे चाहते हैं कि सभी युवा ऐसा करें ताकि दहेज रूपी कलंक से छुटकारा मिल सके।

बुधवार को हुई है आशीष की टीके की रस्म

वधु पक्ष भी गांव में जाकर देगा संदेश
आशीष की होने वाली पत्नी अनुपमा के परिजनों ने इस अवसर पर मोखरा पक्ष को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें लगा कि आशीष के परिवार की ओर से ऐसे ही कहा जा रहा है कि हम दहेज नहीं लेंगे। ऐसे तो सभी कहते हैं, लेकिन बाद में ले लेते हैं। लेकिन इस परिवार ने वैसा ही किया जैसा उन्होंने कहा। इस पक्ष की ओर से कहा गया कि वे भी अपने गांव में जाकर पंचायत करेंगे तथा यह संदेश देंगे। उन्होंने कहा कि दहेज नहीं लेने की बात तो करते हैं, लेकिन बाद ले लेते हैं। उन्होंने कहा कि आशीष के परिवार के इस फैंसले से दहेज की बुराई को रोकने में मदद मिलेगी।
पेशे इंजीनियर है आशीष और अनुपमा है अध्यापिका
आशीष के चाचा रोहताश ने बताया कि मोखरा का आशीष बीटेक है और पेशे से इंजीनियर है। उसके पिता ओमबीर सैनिक हैं। माता अनीता गृहणि है। बड़ी बहन पूजा विवाहित है। जबकि छोटा भाई नीरज भी फौजी है। उधर आशीष की होने वाली पत्नी अनुपमा अध्यापिका है।

रूप सिंह, अवतार, वजीर सिंह, पप्पल, चेला राजपूत, औम, राजू सिंह व कृष्ण
मोखरा निवासी रूप सिंह, अवतार, वजीर सिंह, पप्पल, चेला राजपूत, औम, राजू सिंह व कृष्ण आदि ने आशीष के परिवार के इस निर्णय की प्रशंसा की है तथा कहा है कि इस निर्णय से उनका गांव गौरवान्वित हुआ है

इस न्यूज से संबंधित अपनी प्रतिक्रिया कॉमेंट बॉक्स में जाकर अवश्य दें। आप अपनी प्रतिक्रिया व्हाटसेप नम्बर 8053257789 पर भी दे सकते हैं

आज की खबरें आज ही पढ़े
साथ ही जानें प्रतिदिन सामान्य ज्ञान के पांच नए प्रश्न
डाउनलोड करें, 24c न्यूज ऐप, नीचे दिए लिंक से

Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.haryana.cnews

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पुलिस-पब्लिक सम्मेलन में खुल कर बोले हलकावासी, पुलिस पर लगाए आरोप

आईजी ने कहा हर शिकायत का होगा निपटान महममहम में पुलिस-पब्लिक सम्मलेन में हलकावासी खुलकर बोले। पुलिस की भी...

सोने जैसा हिरण देख माता जानकी खा गई धोखा, हो गया हरण

रामलीलाओं में सीताहरण और राम-सबरी मिलन की लीला का हुआ मंचन महममहम में रामलीलाओं के मंचन का दर्शक भरपूर...

दिल्ली से आएं हैं महम में जलने के लिए रावण, कुंभकर्ण व मेघनाथ

पंजाबी रामा क्लब ने कर ली पुतला दहन की पूरी तैयारी महमहर वर्ष की भांति इस वर्ष भी महम...

अग्रसेन स्कूल के विद्यार्थियों ने दिया बुराई पर अच्छाई की जीत का संदेश

स्कूल में दशहरा पर्व पर किया गया रावण दहन महममहम के महाराजा अग्रसेन स्कूल में दशहरा पर्व के उपलक्ष्य...

Recent Comments

error: Content is protected !!